Sanyasi Jod Dard Tablet – Joint Pain, Back Pain, Knee Pain etc. जोड़ दर्द (JOINT PAIN) के लिए ( 120 Tab.)

5/5 - (1 vote)

Sanyasi Jod Dard Tablet: are for persons who experience joint pain. They experience excruciating agony in their fingers, hands, foot, neck, shoulder, and back. All types of oils, medications, sprays, and massage do not appear to significantly benefit health.

These pills reduce swelling and redness, promote joint lubrication, treat the underlying causes of these issues, and lessen joint discomfort. This formulation is entirely ayurvedic and does not have any negative effects or injury to the body. Within the first 15 days of taking it, you will see a difference.

Also Read: Sanyasi Ayurveda Hair Growth Strong Hair Oil 

Description: Sanyasi Jod Dard Tablet

God forbid that any of us may ever experience joint discomfort. Because of the awful condition, no one can sit or stand; conversely, no one can sit or stand. At times, they experience excruciating pain in their fingers, hands, feet, neck, shoulders, back, knees, and possibly all of their joints.

The use of any oil, medication, spray, or massage does not result in a noticeable improvement because these treatments only address the symptoms’ surface causes.

In order to address all of these issues, Sanyasi Ayurveda developed Sanyasi Jod Dard Tablets, which balance the Vata system of the body, control blood flow in the veins, aid in the production of liquid/oily grease around joint bones, improve joint function, reduce swelling and redness, and lessen joint pain.

This formulation is entirely ayurvedic and does not have any negative effects or injury to the body. After consuming it for the first 15 days, you will notice a difference.

People between the ages group of 18 to 60 can consume these tablets.

Not recommended for:- Sanyasi Jod Dard Tablet

Patients with conditions like tuberculosis, ulcers, cancer, liver cirrhosis, hepatitis, and any issue with the heart or kidneys should not take this medication.

Additionally, pregnant women and nursing mothers are advised against taking this medication out of an abundance of caution if they have recently had any type of surgery, whether minor or major, within the past one to five years or if they have a serious illness that necessitates frequent doctor visits.

Joint Pain, Back Pain, Knee Pain etc. जोड़ दर्द (JOINT PAIN)

भगवान न करे कि किसी को जोड़ दर्द की बीमारी हो, क्योंकि यह एक ऐसी बीमारी है कि जो सब कुछ होते हुए भी इनसान को अपाहिजता का अहसास करवा देती है, यहां तक कि इंनसान को उठने बैठने में भी तकलीफ होती है, जोड़ शरीर का वो हिस्सा है जहाँ दो हड्डियां आपस में आकर मिलती हैं,

इन हड्डियों के बीच में एक ग्रीसनुमा चिपचिपा पदार्थ मौजूद होता है, जो जोड़ों को चलने फिरने मूवमेंट करने में मदद करता है, अगर किसी कारणवश या बीमारी की वजह से यह चिकना पदार्थ कम हो जाए तो जोड़ों की हड्डियां आपस में रगड़ खाने लगती है, जिस वजह से शरीर के उस हिस्से में सूजन, दर्द, लालिमा, संवेदनशीलता रहने लग जाती है, तथा जोड़ मूवमेंट करने में तकलीफ देने लगते हैं।

कई बार दर्द इतना असहनीय हो जाता है कि दर्द के मारे बुखार तक चढ़ जाता है, कई बार कुछ लोगों को एक और शिकायत हो जाती है जिसमें अपनी ही बॉडी के सैल अपनी ही हड्डियों को ऐसे खाने लगते हैं, जैसे कि चूहा किसी चीज को कुतर-कुतर कर खाने लग जाता है, जिससे असहनीय पीड़ा होती है, तथा जोड़ जाम हो जाते हैं, दोनो ही स्थिति में इंसान का जीना दूभर हो जाता है। वह किसी काबिल नहीं रह जाता। 

जोड़ दर्द सिर्फ घुटनों के ही दर्द को नहीं कहते, जहां-जहां भी दो हड्डियां आपस में मिलती हैं, उसे जोड़ कहते हैं, इसलिए चाहे जोड़ों में दर्द हो, कमर दर्द हो, घुटनों का दर्द हो, उगलियों में दर्द हो, या कन्धे, कूल्हे, गर्दन, टखने, कही भी दर्द हो सभी जोड़ दर्द की श्रेणी में आते हैं।

Also Read: Sanyasi Ayurveda Weight Gain Sehat Tablets 

इन सब बातों को ध्यान में रख कर सन्यासी आयुर्वेदा ने प्राकृतिक जड़ी-बूटियों से सन्यासी जोड़ दर्द टेबलेट का निर्माण किया है, यह दवा जोड़ों के दर्द की असली वजह, वात रोगों से आई हुई इम्युन सिस्टम की खराबी को ठीक करती है। इस दवा से जोड़ों के बीच रहने वाली चिकनाई का संतुलन बनने लग जाता है,

तथा जोड़ों की आपस में रगड़ खाने की वजह से आई सूजन, दर्द, लालिमा, संवेदनशीलता घटने लग जाती है। जोड़ों की जकड़न खुलने लगती है, और शरीर पूरी तरह से काम करने के काबिल तथा इम्युन सिस्टम की खराबी की वजह आई हुई विकृति ठीक होने लग जाती है, जिससे बॉडी सैल अपना काम ठीक से करना शुरू कर देते हैं, तथा तकलीफ घटने लग जाती है। 

18 – 60 साल तक के व्यक्ति इसका सेवन कर सकते हैं।

कौन-कौन इस दवा का सेवन नही कर सकते :-

अगर किसी को टी.बी., हार्ट प्रॉब्लम, गुर्दे की समस्या, कैंसर, लिवर सोराइसिस, हैपेटाइटिस, अल्सर, लकवा, मिर्गी-दौरे, 1-1.5 साल में कोई ऑपरेशन हुआ हो, गर्भवती महिलाएं व जो बच्चे को दूध पिलाती हों या कोई गंभीर बीमारी हो।

 


q? encoding=UTF8&ASIN=B09GFY1YFQ&Format= SL250 &ID=AsinImage&MarketPlace=IN&ServiceVersion=20070822&WS=1&tag=mcartshopee 21&language=en INir?t=mcartshopee 21&language=en IN&l=li3&o=31&a=B09GFY1YFQir?t=mcartshopee 21&language=en IN&l=li3&o=31&a=B09GG4WYCJ


Customer Care Number Sanyasi Ayurveda Delhi

  • Sanyasi Ayurveda Number : 0120 – 4785785
  • Free Consultation: 0120 – 4785785

Also Read: Sanyasi Ayurveda Nari Prabha Tablet

Audible Free

Amazon-Buy-Now